The Patna High Court on September 7, 2016 released Muhammad Shahabuddin, a former MP from Siwan (Bihar) and allegedly involved in multiple criminal cases, on bail because the State government didn't pursue the case despite reminders by the High Court. Sushil Modi, the BJP leader and former deputy of Nitish Kumar alleged it was a well-executed strategy of the CM to favor Shahabuddin, a Lalu protégé. Nitish was bowing to Lalu for his support, the BJP accused.

Read more ...

दशकों से सांसदों को जनता के बीच जाने और उनकी समस्याओं से रूबरू होने की बातें होती आ रही हैं, लोकतन्त्र का तकाजा भी यही है l सुनने-सुनाने में अच्छी लगने वाली इन बातों का बाकियों पर क्या असर हो रहा है ये तो मैं नहीं जानता लेकिन हमारे पटना साहिब के सांसद श्री शत्रुघ्न सिन्हा पर इसका कोई असर होता हुआ नहीं दिखता है, शायद इन सब चीजों से से ऊपर की 'चीज़' हैं जनाब!!

Read more ...

नीतीश कुमार जी, राज्य द्वारा बनाये गए कानून और विधान केवल जनता के लिए ही नहीं अपितु राजा के लिए भी होने चाहिएं..

बिहार के गोपालगंज में जहरीली शराब से हुई १३ मौतों और शराबबंदी लागू किए जाने से लेकर अब तक हुई ३० मौतों ने नीतीश जी और उनकी सरकार के तमाम वैसे दावों की पोल खोल कर रख दी है जिसमें अब तक ये दावा किया जाता रहा है कि बिहार में शराबबंदी प्रभावी रूप से लागू है.

Read more ...

बिहार में जनहित से जुड़े मुद्दे भी 'व्यक्ति-विशेष' के अंह की भेंट चढ़ रहे हैं, जनभावनाओं को हाशिए पर धकेल दिया गया है l सरकार की कार्य-शैली पर जब प्रश्न उठता है तो नीतीश जी का जबाव होता है कि "भ्रम फैलाया जारहा है, लोग भ्रम में न फंसें, सब ठीक चल रहा है l"

Read more ...

Below are the unedited excerpts from the Facebook pages of two abiding friends since our JNU years in the 80’s. Kumar Narendra Singh and Ranjan Sharma are originally from Bihar and now settled down in their professional lives in New Delhi. We may not agree on everything but we have a lot of respect for each other’s views. Anxieties and concerns of friends like them should mean a lot to us. We are away from Bihar but Bihar is always within us.

Read more ...

देश के वर्तमान परिपेक्ष में सबसे विश्वसनीय संस्था जो न्यायालय ही बच गयी है उसके एक अंग, एलाहाबाद उच्चतम न्यायालय के लखनौऊ खंडपीठ ने एक समादेश याचिका विचार के लिए स्वीकार कर ली है जिसमे आरोप लगाया गया है कि बहुजन समाज पार्टी के नेता के विरुद्ध भाजपा के एक नेता द्वारा कथित रूप से आपत्तिजनक भाषा के प्रयोग के विरुद्ध बहु. समा.पार्टी द्वारा संगठित विरोध प्रदर्शन में उनके समर्थकों नेअभद्र भाषा का प्रयोग किया जो कानून एवम संविधान के विरुध है.

Read more ...

देश में दलित उत्पीड़न एक गंभीर मुद्दा है, खास तौर से उस स्थिति में जब सरकार ने आम जन से भय, भूख एवं भ्रष्टाचार से मुक्ति दिलाने का वायदा किया है। सिर्फ दलित उत्पीड़न की घटनाओं को देखा जाए तो पिछले दो वर्षो में दलितों की पिटाई, दलितों का समाजिक बहिष्कार, दलित महिलाओं के साथ बलात्कार, उनकी बेदखली आदि जैसी कई ऐसी घटनाएं हुई हैं, जो बहुत ही शर्मनाक हैं।

Read more ...

बिहार की सरकार काफी समय से नक्सलवाद को महज कानून और व्यवस्था की समस्या कह कर इसकी भयावहता का सही अंदाजा लगाने में नाकामयाब रही है l बिहार में भी इनकी (नक्सली) सत्ता के आगे राज्य सरकार बेबस है, औरंगाबाद का हालिया नक्सली हमला इसका ताजा- तरीन उदाहरण है l

Read more ...

Your Favorite Recipes on PD

Recipes

Latest Comments