The picture above is the picture that launched a thousand ships for the elements who shouted their intention of fighting till the vivisection of the Indian state (Bharat tere tukde honge, etc) from the very heart of Bharat, from the campus of the elite Jawaharlal Nehru University, fully residential and fully funded by public money. It is famous for mass producing intellectuals.

Read more ...

छत्तीसगढ़ के सुकमा के कल के नक्सली हमले ने एक बार पुनः ये साबित कर दिया कि नक्सल उन्मूलन के मोर्चे पर केन्द्र व राज्यों की सरकार और सुरक्षा बलों में बेहतर तालमेल का अभाव है l राजनीति तिकड़मबाजी इस के मूल में है l नक्सल प्रभावित प्रदेशों में अपने राजनीतिक हितों की पूर्ति के लिए राजनेताओं और नक्सलियों के बीच संबंध कोई नयी बात नहीं है l

Read more ...

सवाल सच में बड़ा अहम है कि "अपने विरोधियों पर भ्रष्टाचार के बिना तथ्यों के आरोपों की बौछार करने वाले छोटे मोदी के नाम से जाने वाले सुशील मोदी जी का परिवार अकूत संपत्ति का मालिक कैसे बन बैठा?"  

Read more ...

The groundswell of support for the BJP was unmistakable in the state elections held in February, 2017 that secured 325 of the total 403 seats in the U.P. Vidhan Sabha. In the neighboring Uttarakhand, the BJP captured an astounding 57 of the 70 assembly constituencies. This phenomenon could certainly be read as an extension of the support the BJP enjoyed during the 2014 Lok Sabha polls when it bagged 73 of 80 seats in U.P.

Read more ...

सुशील मोदी के द्वारा लालू यादव के परिवार पर लगाए गए हालिया आरोपों पर आज श्री लालू प्रसाद यादव ने आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर तथ्यों व् दस्तावेजों के साथ अपना पक्ष सार्वजनिक तौर पर सबके सामने रख दिया।

Read more ...

India has a rich history of being a unique country with practical secularism and functional democracy. India’s unique history of plural, ideal and democratic society is a synthesis of millennium-old rich traditions and dialogue-oriented community life of both Hindus and Muslims.

Read more ...

BJP is attributing the recent assembly elections victory to voters transcending the lines of caste and religion and voting for the agenda of development. But is it so simplistic? Can Indian voters ever rise above caste and religion? In the current scenario, it seems a bit far-fetched. Development is sure a catchy word these days and yes, a good perception has been created by the Modi government, even though work on the ground may not match the rhetoric.

Read more ...

I have personal recollections of Shri Syed Shahabuddin (SS) who passed away on 4 March 2017. As a curious M.Phil. student of International Studies on the JNU (New Delhi) campus, I had a few occasions to engage with him. The year was 1979; the Janata Party was basking in the glory of its victory in 1977; Atal Bihari Vajpayee was the foreign minister and had reportedly persuaded SS to give up his lucrative Foreign Service for politics.

Read more ...

यूपी में भारतीय जनता पार्टी की इस ‘सुपर लैंड-स्लाईड विक्ट्री’ से ये स्पष्ट है कि जनता के मिजाज और नब्ज को मोदी-शाह और उनकी टीम ने बाकी ‘सबों’ से बेहतर भाँपा l 

Read more ...

आज की तारीख में बिहार की कानून-व्यवस्था भगवान भरोसे ही है जब से बिहार की पुलिस व् सूबे के प्रशासन को शराब सूंघने के एक सूत्री एजेंडे में लगाया गया है पूरी विधि-व्यवस्था चरमरा सी गयी है अपराध चरम पर है; लगभग रोज ही बैंक, पेट्रॉल पम्प लूट की घटनाएं हो रही हैं, हत्याओं और रंगदारी मांगे जाने की घटनाएं आम हो गयी हैंसूबे के मुखिया ने तो मानो बढ़ती हुए आपराधिक घटनाओं से मुँह ही मोड़ लिया है

Read more ...

सम्पन्न हो चुके तीन चरणों के नुकसान की क्षति-पूर्ति आने वाले चरणों में कर पाना भाजपा के लिए संभव नहीं दिखता l पूर्वी उत्तर प्रदेश से भाजपा को काफी आशाएँ हैं लेकिन वहाँ की ग्राउंड-रिएलिटि भी भाजपा के लिए कुछ अच्छे संदेश देते नहीं दिखती l योगी आदित्यनाथ का खासा प्रभाव है पूर्व की सीटों पर और अगर सूत्रों की मानें तो खुद को उपेक्षित मान कर योगी भाजपा से रुष्ट चल रहे हैं और उनके समर्थक और उनका तंत्र भाजपा के उम्मीदवारों के प्रति उदासीन है l

Read more ...

PhotoGallery

photogallery module

Your Favorite Recipes on PD

Recipes

Quick Poll

Should Nitish Kumar ditch RJD and Congress and come back to the NDA fold?

Latest Comments