यूपी के अखाड़े से ताजी रपट

Typography

यूपी में समाजवादी पार्टी में बिखराव का फायदा सीधे तौर पर काँग्रेस और बहुजन समाज पार्टी को मिलेगा.... सबसे बड़ा निर्णायक वोट बैंक मुसलमानों का होगा... प्रदेश का मुस्लिम मतदाता अपने वोटों का विभाजन करने के मूड में नहीं है… भाजपा-मोदी ब्रिगेड को सत्ता से मरहूम करने के उद्देश्य से वो जिस तरफ भी वोट करेगा एकमुश्त करेगा...

समाजवादी पार्टी में फूट से पहले की स्थिति में मुस्लिम मतों का कुछ हिस्सा पार्टी को मिलता तो दिखता था लेकिन बदली हुई परिस्थितियों में मुसलमान मतदाता समाजवादी पार्टी से दूरी बनाता हुआ दिखता है...

मुसलमान मतदाताओं ने अभी अपना 'कार्ड' खोला नहीं है, वो 'वेट एंड वॉच ' की स्थिति में हैं और मतदान के ऐन पहले काँग्रेस व् बहुजन समाज पार्टी में से जिस किसी का पलड़ा भारी होते देखेंगे उसके ही पक्ष में जाएंगे.... ऐसी परिस्थिति में अब यूपी में भाजपा-विरोधी पार्टियों की पूरी चुनावी राजनीति मुसलमानों को लुभाने पर केंद्रित होगी...

दलित बहन जी के साथ मजबूती से खड़े दिखते हैं

ब्राह्मणों और सवर्णों के एक बड़े तबके का भाजपा से मोह-भंग होता हुआ साफ देखा जा सकता है... यादव मतदाता जो पहले भी एकजुटता के साथ समाजवादी कुनबे के साथ खड़ा था आज भी यथावत है लेकिन अगर समाजवादी पार्टी टूटती है (जिसकी संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता) तो युवा यादव मतदाता अखिलेश की तरफ जाएंगे और एक बड़ा तबका यदि भाजपा का रुख कर ले तो कोई आश्चर्य नहीं ...

समाजवादी कुनबे में कलह के कारण एक भ्रम की स्थिति तो जरूर कायम होती दिखती है यादव मतदाताओं के बीच और भाजपा अपने पक्ष में इसे पूरा भुनाने की कोशिश में भी है...

आम जनता (विशेषकर हरेक जाति के मध्य व् निम्न आय वर्ग) से सीधे संवाद के पश्चात् ये बातें तो जरूर उभर कर सामने आती हैं कि :

"प्रशासन पर अपनी पकड़ के लिए बहन जी से बेहतर कोई और विकल्प नहीं है प्रदेश में "...

"अखिलेश की व्यक्तिगत छवि पर कोई सवाल खड़ा करता हुआ नहीं दिखता"...

"मोदी जी से जैसी उम्मीदें थीं वो उस पर खरे नहीं उतरे"...

"भाजपा लोकसभा चुनाव के अपने बड़े-बड़े चुनावी वादों को अमली जामा पहनाने में विफल ही रही है"...

"धर्म के नाम पर भाजपा के पक्ष में कोई गोलबंदी होते हुए नहीं दिखती"...

"नीतीश कुमार को तो अधिसंख्य ग्रामीण व् शहर की गरीब जनता जानती भी नहीं"…

"लालू यादव अगर किसी के पक्ष में प्रचार में उतरते हैं तो बिहार से सटे सूबे के इलाकों में यादव मतदाताओं को कुछ हद प्रभावित कर सकते हैं "...


Alok Kumar, Sr. Journalist, Patna

BLOG COMMENTS POWERED BY DISQUS

PhotoGallery

photogallery module

Your Favorite Recipes on PD

Recipes

Quick Poll

Should Nitish Kumar ditch RJD and Congress and come back to the NDA fold?

Latest Comments